/आखिरकार हनुमान बेनीवाल ने राजस्थान को ये दिला कर ही छोड़ा

आखिरकार हनुमान बेनीवाल ने राजस्थान को ये दिला कर ही छोड़ा

कहते है कि अगर आप किसी चीज़ को शिद्दत से चाहे तो सारी कायनात उस काम को करवाने की कोशिश में लग जाती है… ये लाइने तो शाहरुख खान की है… लेकिन अगर कोई नेता भी इस पर अमल करें तो काफी कुछ हो सकता है… और अगर इस पर अमल करना सीखना है तो हमे सीखना चाहिए नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल से। 

नागौर सांसद और RLP मुखिया हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) की मेहनत आखिरकार रंग ला रही है. डेगाना में फिर से टंगस्टन खनन को केंद्रीय खान मंत्री प्रह्लाद जोशी (Prahlad Joshi) ने मंजूरी दे दी है. केंद्रीय मंत्री ने आज सदन में कहा कि, ‘टंगस्टन का खनन शुरू करने की कोई भी योजना गवेषण कार्यक्रम की रिपोर्ट के प्राप्त होने के बाद शुरू की जाएगी’. यहां हम आपको बता दें कि सांसद बेनीवाल डेगाना (Degana) में टंगस्टन खनन (Tungsten Mining) को लेकर पहले भी कई बार लोक सभा में यह मुद्दा उठा चुके हैं. साथ ही हनुमान बेनीवाल ने विधायक रहते हुए भी इसके लिए प्रयास किये थे. लेकिन अब नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल की मेहनत रंग ला रही है.

बुधवार को लोकसभा में आरएलपी संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल द्वारा नागौर जिले के डेगाना में पुनः टंगस्टन खनन शुरू करने की प्रक्रिया को पुनः शुरू की मांग को लेकर लगाए गए तारांकित सवाल का जवाब मिल चुका है. बेनीवाल के तारांकित सवाल के जवाब में केंद्रीय खान,कोयला एवम संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने बताया कि, ‘डेगाना के पास स्थित रेवंत पहाड़ी व उसके आस पास के पिछले कार्यों के सकारात्मक परिणाम के आधार पर जीएसआई द्वारा 2017-18 के दौरान टँगस्टन व सम्बन्धित खनिजीकरण में लिए गवेषण किया गया व 1.36 मीट्रिक टन (टंगस्टन ग्रेड 0.07% ) का टोही संसाधन सिद्ध किया गया है’.

केंद्रीय मंत्री जोशी ने बताया कि, ‘2017-2018 के आंकड़ों के अनुसार कार्य सत्र 2019-21 के दौरान जीएसआई ने टँगस्टन ,लिथियम व सम्बन्ध खनिजिकरण का नतीलम्ब विस्तार व गहराई विस्तार सिद्ध करने के लिए रेवंत पहाड़ी डेगाना में तबग्स्टब व लिथियम के लिए जी-2 चरण का गवेषण कार्यक्रम आरम्भ किया है. टंगस्टन का खनन शुरू करने की कोई भी योजना गवेषण कार्यक्रम की रिपोर्ट के प्राप्त होने के बाद शुरू की जाएगी’.

और देखिए