/पायलट का हाथ राजपूतो के साथ

पायलट का हाथ राजपूतो के साथ

राजस्थान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट आज अचानक क्षत्रिय युवक संघ के कार्यालय पहुंचे. जहां उन्होंने क्षत्रिय युवक संघ के संस्थापक तन सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की. सचिन पायलट के इस कदम से हर कोई राजनीतिक जानकार अचरज में है।  पायलट ने राजपूत समाज के तन सिंह को श्रद्धांजलि देने के बाद क्षत्रिय युवक संघ के भगवान सिंह रोलसाबसर से मुलाकात कर राजनीतिक संदेश दिया।  प्रदेश में जब राजनीतिक उठापटक हुई थी उस समय सचिन पायलट का साथ देने जो 19 विधायक गए थे, उनमें से दो राजपूत विधायक दीपेंद्र सिंह शेखावत और गजेंद्र सिंह शेखावत भी आज शामिल थे।  ऐसे में सचिन पायलट जिस तरीके से राजस्थान में जाट, राजपूत, मीणा, ब्राह्मण,वैश्य और दलितों को साथ लेकर चलते है उसमें आज सचिन पायलट ने संघ शक्ति कार्यालय पहुंच एक नया संदेश भी राजस्थान की राजनीति को दे दिया है। जिस समय सचिन पायलट क्षत्रिय युवक संघ के कार्यालय में संघ शक्ति के भगवान सिंह रोलसाबसर से मुलाकात कर रहे थे, उस समय कार्यालय के बाहर केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, गहलोत सरकार में मंत्री प्रताप सिंह और भंवर सिंह भाटी भी मौजूद थे।  ऐसे में इन बड़े राजपूत नेताओं की मौजूदगी के बीच सचिन पायलट का संघ शक्ति कार्यालय जाना बड़ा राजनीतिक संदेश है। 

 वैसे भी राजनीतिक उठापटक के समय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जिस तरह से केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत पर राजस्थान कांग्रेस के विधायकों को लालच देकर तोड़फोड़ करने के आरोप लगाते थे।  वह सीधे तौर पर शेखावत और पायलट के रिश्तों की बात करते थे। 

और देखिए